शासकीय विभागों में बड़े पैमाने पर रिक्त पदों पर शीघ्र की जायेगी भर्ती: मुख्यमंत्री बघेल

hulchalnews
1 0
Read Time:5 Minute, 48 Second

रायपुर. मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा है कि युवाओं को रोजगार उपलब्ध कराने शासकीय विभागों में बड़े पैमाने पर रिक्त पदों पर भर्ती प्रक्रिया शीघ्र प्रांरभ की जाएगी. बघेल आज यहां जिला मुख्यालय कांकेर मेला भाटा में साहू समाज द्वारा आयोजित जिला स्तरीय कर्मा महोत्सव को सम्बोधित कर रहे थे. कार्यक्रम में उन्होंने एक करोड़ 51 हजार रूपये के विभिन्न कार्यों लोकार्पण किया.

मुख्यमंत्री ने कहा कि श्रमिक दिवस के अवसर पर बोरे बासी तिहार भी मनाया गया, जिसमें लोग उत्साह पूर्वक शामिल हुए. छत्तीसगढ़ के परंपरा संस्कृति को बनाए रखने की तर्ज पर बोरे बासी खाना की एक अलग ही पहचान है. उन्होंने कहा कि बोरे बासी में गजब का विटामिन है. मजदूर, अधिकारी तथा हर वर्ग के लोगों ने बोरे बासी खाकार इसे सम्मान दिया है. इस मौके पर संसदीय सचिव शिशुपाल शोरी, विधायक अनूप नाग और सावित्री मनोज मण्डावी सहित साहू समाज के अनेक पदाधिकारी और समाजिक बंधु उपस्थित थे.

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेशव्यापी भेंट-मुलाकात के दौरान 80 विधानसभा क्षेत्रों में लोगों से मुलाकात कर विभिन्न सामाजिक संगठनों के लिए जमीन अथवा राशि उपलब्ध कराई गई है, इससे उन्हें सामाजिक कर्मक्रमों में मदद मिलेगी. छत्तीसगढ़ में भूमिहीन कृषि मजदूर एवं गायता-पुजारियों को प्रति वर्ष 07 हजार रूपये दिया जा रहा है, इसी तर्ज पर, बेरोजगारों को भी प्रतिमाह 25 सौ रुपए दिये जा रहे हैं, 30 अप्रैल को पात्र पाए गये बेरोजगारों के खातों में 16 करोड़ रुपए अंतरण किया गया है.

मुख्यमंत्री ने कहा कि राजीव गांधी किसान न्याय योजना के माध्यम से किसानों को हर तीसरे महीने में उनके खाते में राशि हस्तांतरित किया जा रहा है, जिससे किसान समृद्ध हो रहे हैं. धान के साथ-साथ लघु वनोपज, कोदो, कुटकी, रागी की समर्थन मूल्य पर खरीदी की जा रही है. राज्य के हर वर्ग के आर्थिक उत्थान के लिए योजनाएं चलाई जा रही है, अनुसूचित जाति, जनजाति, पिछड़ा वर्ग सहित हर वर्ग के लोगों के विकास के लिए कार्य किये जा रहे हैं.

मुख्यमंत्री ने कहा कि छत्तीसगढ़ की परंपरा, संस्कृति, बोली-भाषा इत्यादि को संवारने एवं सहजने का कार्य किया जा रहा है. छत्तीसगढ़ के तीज त्यौहार, महोत्सव सहित विश्व आदिवासी दिवस, भक्त माता कर्मा जयंती, छेरछेरा पुन्नी इत्यादि के अवसर पर अवकाश दिया गया है. उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ में कांकेर जिला सभी दृष्टि से संपन्न है, यहां मेडिकल कॉलेज तथा बीएड कॉलेज सहित सभी प्रकार की मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध कराई गई है. कांकेर जिले में मिलेट मिशन में अच्छे कार्य हुए है, कांकेर विकाखण्ड के नाथियानवागांव में भारत का सबसे बड़ा लघु धान्य प्रोसेसिंग यूनिट स्थापित की गई है, जिससे स्थानीय लोगों को भी रोजगार उपलब्ध हो रहा है.

मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम में जिन कार्यों का लोकार्पण किया उनमें कांकेर जिला मुख्यालय में 25 लाख रूपये की लागत से निर्मित मंगल भवन (जिला साहू सदन) एवं 20 लाख रूपये की लागत से निर्मित कन्या छात्रावास भवन और छत्तीसगढ़ राज्य कृषि विपणन मण्डी बोर्ड द्वारा 40 लाख 51 हजार रूपये की लागत से निर्मित किसान सदन भवन कांकेर तथा ग्राम डोकला में पिछड़ा वर्ग हेतु 15 लाख रूपये की लागत से बनाया गया सामाजिक भवन शामिल है.

कार्यक्रम में छत्तीसगढ़ अनुसूचित जनजाति आयोग के सदस्य नितिन पोटाई, बस्तर विकास प्राधिकरण के सदस्य बिरेश ठाकुर, गौसेवा आयोग के सदस्य नरेन्द्र यादव, पर्यटन मंडल के सदस्य नरेश ठाकुर, जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक जगदलपुर के अध्यक्ष एवं पूर्व विधायक शंकर धु्रवा, पिछड़ा वर्ग आयोग के सदस्य गिरवर साहू, साहू समाज के प्रदेश अध्यक्ष टहल राम साहू सहित अनेक जनप्रतिनिधि, प्रशासनिक अधिकारी तथा साहू समाज के लोग बड़ी संख्या में उपस्थित थे.

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

Hello world!

Welcome to WordPress. This is your first post. Edit or delete it, then start writing!

You May Like

Subscribe US Now