कांग्रेस-भाजपा सहित सभी राष्ट्रीय पार्टी विधानसभा चुनाव मे ओबीसी को दे 54% टिकट:- अधिवक्ता शत्रुहन सिंह साहू

hulchal news
0 0
Read Time:2 Minute, 50 Second

ओबीसी संयोजन समिति छत्तीसगढ़ के संस्थापक अधिवक्ता शत्रुहन सिंह साहू (राष्ट्रीय महासचिव अखिल भारतीय पिछड़ा वर्ग संघ) ने कांग्रेस भाजपा सहित सभी राष्ट्रीय दलों से आगामी विधानसभा चुनाव में ओबीसी समाज को जनसंख्या के अनुपात में 54% अर्थात 90 विधानसभा में से 48 सीट देने की मांग करते हुए कहा कि विगत कुछ वर्षों में ओबीसी समाज में आई राजनितिक जागृति आगामी छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव में निर्णायक भुमिका अदा करेगी, चाहे विधानसभा हो या लोकसभा हर सीट पर ओबीसी वर्ग का दबदबा दिन ब दिन बढ़ते जा रही है जिसे देखते हुए कांग्रेस भाजपा सहित तमाम राजनीतिक पार्टियों ओबीसी समाज को साधने में जी जान से जुट गईं हैं.

श्री साहू जी ने आगे कहा कि सभी पार्टियां इस बार अन्य पिछड़ा वर्ग के वोटर्स को साधने में लगी हैं, जिसके लिए कई प्रपंच किए जा रहे है, एक ओर जहां कांग्रेस ओबीसी को साधने के लिए राज्य सरकार के द्वारा आरक्षण और योजनाएं लाने का दिखावा कर रही हैं तो वहीं दूसरी ओर प्रमुख विपक्षी दल बीजेपी पार्टी के बड़े पदों पर ओबीसी वर्ग के जनप्रतिनिधियों को बिठाकर ओबीसी हितैषी होने का ढोंग कर रही है किंतु दोनो ही दल संसद मे जातीय जनगणना कर समान हिस्सेदारी और सामाजिक सुरक्षा कानून लाने पर बहस के सिवाय कानूनी अमली जामा पहनाने में कोई दिलचस्पी नहीं दिखा रही है जिसे ओबीसी समाज के प्रत्येक जागरुक व्यक्ति भली-भांति देख व समझ रहे है |
उन्होने राजनीतिक दलों को नसीहत देते हुए कहा कि जिस तरह छत्तीसगढ़ विधानसभा में अनुसूचित जाति के लिए 10 सीट अनुसूचित जनजाति के लिए 29 सीट उनकी आबादी के अनुपात में आरक्षित है, ठीक उसी तरह जो भी पार्टी अपनी जीत सुनिश्चित करना चाह रही हैं वह ओबीसी वर्ग को 90 में से 48 सीट टिकट देकर ओबीसी हितैशी होने के अपने दावों को प्रमाणित करें अन्यथा परिणाम भुगतने के लिए तैयार रहें।

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

आचार संहिता की आड़ में मोवा के आदर्श नगर मे अवैध निर्माण, अधिकारी जान कर भी अनजान क्या

छत्तीसगढ़ में विधानसभा चुनाव की आचार संहिता के चलते भले ही नए विकास कार्यों पर रोक हो, लेकिन अवैध निर्माण करने में कोई कोर-कसर नहीं छोड़ रहे हैं। आचार संहिता में अधिकारी चुनावी ड्यूटी की व्यस्तता की दुहाई दे रहे हैं तो वही अवैध इमारतें बहोत तेजी से खड़ी की […]

You May Like

Subscribe US Now