सेवा ” पथ संस्था निकालेगी 9 कन्याओं की अनोखी बारात.

hulchalnews
0 0
Read Time:8 Minute, 2 Second

एक बेटी का पिता होना जहाँ एक ओर समाज में गर्व करने वाली बात है, वहीं वर्तमान कुरीतियों के कारण अभिशाप भी होती जा रही है। बेटी की विवाह में भव्य आयोजन करने की आडंबर और एक दूसरे से अधिक दहेज देने की होड़ का अनुसरण करते करते मध्यम वर्गीय पिता अपनी बेटी की शादी तो धूमधाम से कर लेता है, उसके बाद वो पूरी जिन्दगी मेहनत करके उस शादी का कर्ज चुकाते चुकाते बुढ़ा हो जाता है। यानी कि एक बेटी के पिता का फर्ज निभा पाना बहुत ही कष्टदायक है।

सेवा पथ संस्था के मिडिया प्रभारी विक्की पंजवानी ने बताया कि इन्हीं ज्वलंत समस्याओं और कुरीतियों को ध्यान में रखते हुए सामाजिक संस्था सेवा चौथी बार 19 नवंबर 2023, रविवार के शुभ मुहूर्त पर एक साथ एक ही मंच पर माँ दुर्गा जी के नौ स्वरूपी 9 कन्यादान का निःशुल्क विवाह सम्पन्न कराया जा रहा है। जिसमें सभी वर-वधु का एक साथ मुकुट बंधन, बारात, लेडीस संगीत, माता स्वरूपी कन्याओ की आरती, फेरे (वेदी) और विशाल मंच पर संगीतमय रिसेप्शन जैसे मांगलिक कार्यक्रम पूरे विधि विधान से सम्पन्न कराये जायेंगे ।

संस्था के प्रमुख सदस्य पहलाज खेमानी और राजा बजाज ने बताया की संस्था सेवा पथ विगत वर्षो में 3 बार कन्यादान का ऐतिहासिक कार्यक्रम आयोजित कर चुकी है। पुनः चौथी बार यह निःशुल्क कन्यादान सम्पन्न करा रही है। इससे समाज की दशा और दिशा बदलने में सहायक होगी साथ ही साथ जो माता पिता अपने बच्चों के विवाह के लिए चिंतित है उन्हें भी इन कुरीतियों से निजात मिलेगी। इस आयोजन मे विवाह करने वाले वर-वधुओं की इच्छा अनुसार दूल्हों के अलावा 9 कन्याओं की भी अनुठी बारात निकाली जायेगी

संस्था की वरिष्ठ महिला सेवादार श्रीमती शकुंतला लखवानी व श्रीमती सुलोचना नारायणी ने बताया कि इस कन्यादान में छत्तीसगढ़ के अलावा मध्यप्रदेश व उड़ीसा के वर-वधु आकर विवाह के पवित्र बंधन में बधेंगे और अपनी गृहस्थी शुरू करेंगे। संस्था द्वारा दहेज मुक्त विवाह की एक अनुकरणीय पहल की गई, जिसमें किसी भी बेटी के पिता को कोई आर्थिक बोझ नहीं उठाना पड़ेगा बल्कि विभिन्न समाजसेवियों द्वारा अपनी खुशी से यदि कोई आशीर्वाद रूपी उपहार वर-वधु को देने की इच्छा होगी तो वे खुद अपने हाथों से “रिसेप्शन” में आकर दे सकते है ।

एक अन्य विशिष्टता का उल्लेख करते हुए संजय लालवानी व रवि पंजवानी द्वारा बताया गया कि कन्यादान सेवा का इतना विशाल आयोजन बिना किसी कैश काउंटर व रसीद बुक से पुरा होगा क्योंकि इस आयोजन को पुरी शिद्दत से सम्पन्न करने का जिम्मा समाज के कई सामाजिक संगठनों व पूज्य पंचायतों ने अपने हाथों में लिया है। अपनी स्वेच्छा से किसी न किसी सेवा को पूर्ण करने की जिम्मेदारी ली है।

संस्था के सदस्य आनंद जगवानी व अनिल नैनवानी ने जानकारी दी कि इस कन्यादान के पावन महायज्ञ में धमतरी, बेमेतरा, कांकेर, गोंदिया, तिल्दा, भाटापारा, बलौदाबाजार, राजनांदगांव, बिलासपुर आदि शहरों के पूज्यनीय संतजन व पूज्य पंचायतें, प्रमुख महिला संगठन व सिंधु महाराज मंडल सहित समाजसेवी संस्थाओं ने सहयोग का प्रण किया है, वे स्वयं उपस्थित होकर श्रमदान भी देंगे व वर-वधु को आशीर्वाद भी देंगे ।

इस आयोजन की सबसे पवित्र भावना का जिक्र करते हुए संस्था की वरिष्ठ सेवादार श्रीमती मीना सरिता चंदानी व श्रीमती प्रिया नेभानी ने बताया कि जिन सज्जनों की कोई बेटी नहीं है यानी कि जिन्हें जीवन में कन्यादान करने का पुण्य प्राप्त नहीं हो सकता वे भी इस आयोजन में कन्यादान करके संसार का सबसे बड़ा पुण्य पा सकते है ।

राजेन्द्र चंदवानी व दिलीप नागपाल ने जानकारी दी की इस आयोजन में वर-वधु के अतिथियों व समाज के सम्माननीय सज्जनों सहित लगभग 3000 लोगों का समावेश होगा। जिसमे उनके रहने, खाने की व्यवस्था और मांगलिक कार्यक्रमों का हिन्दू संस्कारों के अनुसार विधि विधान से सम्पन्न कराया जायेगा। इस आदर्श आयोजन में रायपुर के अलावा महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश की सामाजिक संस्थाओं के लगभग 300 सेवादार सेवायें देकर इस महायज्ञ को सम्पन्न करायेंगे । के पुरुष

संस्था की महिला सेवादार श्रीमती रेखा वाधवानी व श्रीमती कशिश लुलिया ने विशेष जानकारी दी कि इस कन्यादान आयोजन में पधारे अतिथियों के स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए शहर के प्रमुख डॉक्टरों के साथ जय झूलेलाल धर्मार्थ सेवा समिति द्वारा मेडिकल चेकअप और दवाईयों की सेवाऐं भी प्रदान की जा रही है।

कन्यादान आयोजन में निष्ठा से सेवा करने वाले श्री महेश रोहरा जी, विजय पंजाबी, सतीश हरचंदानी, मनीष कटारिया, महेश केशवानी, संदीप लालवानी, संदीप चंदानी, वासु बजाज, अजय लालवानी, अशोक नर्सवानी, विक्की वाधवानी, राजू वासवानी और महिला सदस्यों में श्रीमती डिम्पल शर्मा, श्रीमती जया जीवनानी, श्रीमती सपना कुकरेजा, श्रीमती रेखा धर्मानी, श्रीमती लता बुधवानी, श्रीमती कृपा आहूजा, श्रीमती पूजा लहेजा, श्रीमती एकता रूचंदानी, श्रीमती ममता पंजवानी, श्रीमती प्रिया अमलानी, श्रीमती दिव्या अडवानी, श्रीमती हीना जादवानी, श्रीमती नैना गोपलानी, श्रीमती रेश्मा शोभानी, श्रीमती मीना इसरानी, श्रीमती प्रिती प्रेमचंदानी, श्रीमती प्रिया मंगलानी, श्रीमती पूजा खत्री, श्रीमती दीपिका मिर्घानी सहित सैकड़ों सम्मानीय सेवादार ने मिलकर इस कन्यादान महायज्ञ को सम्पन्न कराने में जुटेंगे।

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

राजीनामा वा नियमतीकरण के जिम्मेदार अधिकारी व कर्मचारी पर पद के दुरूपयोग व लापरवाही की कार्यवाही क्यों नहीं?

शासन द्वारा बनाए गए नियमों के विपरीत बनाए जा रहे आवासी व व्यवसायिक अवैध निर्माण का आखिर जिम्मेदार कौन हैं शासन द्वारा अवैध निर्माण करता से राजीनामा वा नियमतीकरण के नाम पर अर्थदंड के रूप में हर्जाना लेकर अवैध निर्माण का वैध तो कर दिया जाता है मगर किसी भी […]

Subscribe US Now