IAS गौरव कुमार सिंह बनाए गए रायपुर के नए कलेक्टर, कैबिनेट बैठक के बाद जारी

hulchalnews
0 0
Read Time:2 Minute, 33 Second

रायपुर। छत्तीसगढ़ की नई विष्णुदेव सरकार ने प्रदेश में बड़ी प्रशासनिक सर्जरी की हैं। सरकार के सामान्य प्रशासन विभाग ने 89 आईएएस के तबादले की लिस्ट जारी की है। इनमें कई जिलों के कलेक्टर और संभागायुक्त शामिल हैं। रायपुर के कलेक्टर्स सर्वेश्वर भूरे को छग निर्वाचन आयोग में सचिव के पद पर पदस्थ किया है तो वही 2013 बैच के आईएएस गौरव कुमार सिंह को राजधानी रायपुर का नया कलेक्टर बनाया गए हैं। कल कैबिनेट की बैठक संपन्न होने के बाद देर रात जीएडी ने यह लिस्ट जारी की हैं।

गौरतलब हैं कि पछली बार की तरफ इस बार भी जनसम्पर्क विभाग का जिम्मा 2006 बैच के आईपीएस अफसर मयंक श्रीवास्तव को सौंपा गया हैं। वही मंत्रालय में सचिवों के साथ ही 19 जिलों के कलेक्टर भी इधर से उधर हुए हैं।

सामान्य प्रशासन विभाग के द्वारा जारी लिस्ट में 19 जिलों के कलेक्टर प्रभावित हुए हैं। जिन अफसरों को जिले से हटाया गया हैं उन्हें दूसरे जिलों में तैनात किया गया हैं। इसी तरह जिन्हे जिन्हे जिले का प्रभार नहीं मिला हैं उन्हें विभागों की जिम्मेदारी दी गई हैं। बात करें दंतेवाड़ा कलेक्टर विनीत नंदनवार की तो उन्हें दंतेवाड़ा से हटाते हुए मंत्रालय अटैच कर दिया गया हैं। कलेक्टरी छीने जाने के बाद उन्हें मंत्रालय में अटैच करते हुए संयुक्त सचिव बनाया गया हैं। बताया जा रहा हैं कि पिछले दिनों दंतेवाड़ा के माँ दंतेश्वरी कॉरिडोर में करोड़ो रुपये की गड़बड़ी उजागर हुई थी जिसके बाद कलेक्टर पर यह कार्रवाई की गाज गिरी हैं। मामले के सामने आने के बाद उनपर कार्रवाई की तलवार लटक रही थी। वनमंत्री केदार कश्यप ने पूरे मामले की जाँच के बाद दोषी अफसरों के खिलाफ कार्रवाई की बात भी कही थी।

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

दो रिटायर्ड अ​धिकारियों का जलवा, सरकार किसी की भी हो खाद्य विभाग में चला रहे है ट्रास्फर पो​स्टिंग का व्यापार

रायपुर। खाद्य एवं नागरिक आपूर्ती निगम के संचालक की मनमानी का मामला सामने आया है। संचालक ने दो सेवानिवृत्त अ​धिकारियों की करीबी इतनी ज्यादा है कि दोनों के कहने पर ही एफओ और एफओं की सूची जारी करते हैं। ऐसा ही मामला रायपुर में भी देखने को मिला। यहां पर […]

You May Like

Subscribe US Now