BJP ने यूं ही नहीं चला भजन लाल शर्मा पर दांव, इन खूबियों के कारण मिला …

hulchalnews
1 0
Read Time:3 Minute, 9 Second

जयपुर. राजस्थान में बीजेपी ने भजन लाल शर्मा पर यूं ही दांव नहीं खेला है। भजन लाल शर्मा की संगठन को मजबूत करने की खूबियों की वजह से राजस्थान का ताज मिला है। दरअसल, भजन लाल शर्मा जब भाजयुमो के जिला अध्यक्ष थे उस दौरान उन्होंने दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में आय़ोजित भाजयुमो के राष्ट्रीय अधिवेशन में एक बूथ 10 यूथ का प्रस्ताव रखा था। इस प्रस्ताव की जमकर तारीफ हुई थी।

बीजेपी के बड़े नेताओं के नजरों में भजन लाल शर्मा आ गए थे। यहीं से वह राजनीति की सीढ़िया आगे बढ़ते गए है। भजन लाल शर्मा ने छोटे स्तर से राजनीति की शुरुआत की है। भरतपुर जिले के नदबई तहसील के अटारी गांव में जन्में भजन लाल शर्मा ने संगठन को मजबूत करने के लिए नए नवाचार किए। परिणाम यह हुआ कि उन्हें संगठन में बड़े पद मिलते गए है। सतीश पूनिया और सीपी जोशी की टीम में शामिल रहे। सीपी जोशी ने पूनिया की टीम को भंग कर दिया था। लेकिन भजन लाल शर्मा को बरकरार रखा।

राजस्थान के नए सीएम का जन्म भरतपुर जिले की नदबई तहसील के अटारी गांव में हुआ है। वे एक किसान परिवार से आते हैं और उन्होंने काफी गरीबी में अपना बचपन बिताया है। भजन लाल शर्मा ब्राह्मण परिवार से आते है। जो कि राजस्थान की तीसरी बड़ी आबादी मानी जाती है। हर विधानसभा में 10 से 5 हजार ब्राह्मण रहते है। जीत का यह भी बड़ा फैक्टर माना जाता है। राजस्थान में सत्ता का संघर्ष जाट और राजपूतों के बीच रहा है। लेकिन ब्राह्मण समुदाय भी बड़ी भूमिका निभाता रहा है।

भजन लाल शर्मा भरतपुर जिले की नदबई में एबीवीपी के सक्रिय कार्यकर्ता थे।  1992 में श्रीराम भूमि जन्म आंदोलन में सक्रिय रूप से भाग लिया। जेल गए। भजन लाल शर्मा विभिन्न पदों पर रहे है। सियासी जानकारों का कहना है कि भरतपुर जिले के एक छोटे से गांव में जन्मे भजन लाल शर्मा सीएम की रेस में शामिल नहीं थे। लेकिन अचानक उनका नाम सामने आ गया है। पहले कयास लगाए जा रहे थे कि महंत बालकनाथ,  दीया कुमारी, किरोड़ी लाल मीणा, कैलाश चौधरी और वसुंधरा राजे रेस में शामिल है। लेकिन अचानक भजन लाल शर्मा ने दिग्गजों को पीछे छोड़ दिया।

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

विभिन्न मार्गो को अवैध कब्जों व अतिक्रमणों से किया गया मुक्त

रायपुर। नगर निगम मुख्यालय उडनदस्ता एवं संबंधित जोनो की नगर निवेश विभाग टीमों के अमले ने पचपेडी नाका ब्रिज के नीचे अभियान चलाकर अवैध ठेलों गुमटियों को हटाने कार्यवाही की। जोन 7 क्षेत्र में एनआईटी के समीप अभियान चलाकर सड़क मार्ग से अवैध ठेले गुमटी जप्त करने की कार्यवाही की […]

You May Like

Subscribe US Now